Posts

Save Trees to save our earth

EASY WAY TO LEARN INDIAN MUSIC HERE.

KEEP REGULAR WATCHING HERE TO LEARN BEST GUIDENCE OF INDIAN MUSIC BOTH VOCAL AND INSTRUMENTS
INDIAN MUSIC IS MOSTLY BASED ON TIMINGS AND ALL RAGAS ARE DISTRIBUTED ACCORDING TO PARTICULAT TIME FOR EXmple morning , noon, afternoon, evening night first part 2nd part , midnight , 
So here I will give you entire knowledge about this subject . If any of my visiters want to learn Indian music please follow and write your questions in comments so that I can help you . No fees of charge for this now. 
Thanks

MHARO PYARO RAJASTHAN . LYRICS & MUSIC BY HARI OM JOSHI

MHARO PYARO RAJASTHAN :-*
===============================
LYRICS & MUSIC COMPOSED BY
H A R I O M J O S H I
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: गावाँ बीं धरती रो गान जीं रो नाम है राजस्थान ।
रजपूताँ री शान म्हारो      प्यारो       राजस्थान ।।
1.
मरुधरा रा टीबा ऊपर खेत खड्या लहरावे ।
काजलिये री कोर गोरडी भातो लेकर आवे ।।
गावे अलगोजा री तान म्हारो प्यारो ........
2.
राणा प्रताप सा पुत्र धरा पे धरती मान बढ़ावे ।
स्वामी भक्त चेतक सा घोड़ा हँस-2प्राण लुटावे ।।
होवे मालिक पे कुर्बान म्हारो .................
3.
वीर भूमि सूँ लडताँ सायबो मंगवायी सैणानी ।
ले कटार सिर काट दे दियो धन्य-धन्य क्षत्राणी ।।
जिण री अमर कथा बलिदान गावे सारो हिंदुस्तान
प्यारो ...........................
4.
हाडी रानी परम वीर पद्मिनी परम पूजनिय भेस ।
देव लोक भी फीको लागे देख जिणाँ रो वेश ।।
चक्कर खावे है भगवान म्हारो .........
5.
मीरा बाई री भक्ति पन्नाधायी रो या बलिदान ।
गोरा बादल जयमल पत्ता  जिस्या यो वीराँ री खान ।।
भामाशाह जी रो महादान म्हारो ..........
6.
जयपुर देखो कोटा देखो देखल्यो अजमेर…

दुर्गा जी के बत्तीस नाम

नित्य स्मरण कर संकटों से मुक्ति का श्रेष्ठ उपाय ।

संकट नाशन गणेश स्तोत्र . SANKAT NASHAN GANESH STOTRA

प्रणम्य शिरसा देवं गौरी पुत्रं विनायकम् ।
      भक्तावासं स्मरैनित्यंमायुः कामार्थ सिद्धये ।।       प्रथमम् वक्रतुण्डम् च एक दंतं द्वितीयकं ।
        तृतीयं कृष्ण पिङाक्षं गजवक्त्रं चतुर्थकं ।।लंबोदरं  पंचमम्  च षष्ठम् विकटमेव च ।
        सप्तमम् विघ्न राजेंद्रम् धूम्रवर्णम् तथाष्टमं ।।       नवमं भालचँद्रं च दशमम् तु विनायकं ।
       एकादशं गणपतिं द्वादशं तु गजाननं ।।       द्वादशैतानी नामानी त्रिसंध्यं यः पठेन्नरः ।
       न च विघ्न भयं तस्य सर्व सिद्धि करं प्रभो ।।      विद्यार्थी लभते विद्यां धनार्थी लभते धनम् ।
       पुत्रार्थी लभते पुत्रान मोक्षार्थी लभते गतिम् ।।

       जपेद् गणपति स्तोत्रं षडभिर्मासे फलम् लभेत् ।
       संवत्सरेण सिद्धिम् च लभते नात्र संशयः ।।       अष्टभ्यो ब्रह्मणेभ्यश्च लिखित्वा यः समर्पयेत ।
       तस्य विद्या भवेत्सर्वा  गणेशस्य प्रसादतः ।।                         " :- ॐ इति -: "
                 *********************

आज़ादी के दिन बहन की राखी भाई बैठा सरहद पर

गीत-संगीत :- हरिओम जोशी ।
(+(+(+(+(+(+(+(+(+(+(+(+(+(+(+आज़ादी का दिन बहन की राखी का अरमान है ।
सरहद पर पहरा देते भाई से बहन  का फरमान है ।।मेरे वीर बीर तू अपनी माटी की कसम लेना ।
पीओके अक्साई चिन दुश्मन से आज़ाद करना ।।इस राखी पर यही बहन को भैंट तुम देना  ।
रक्षाबंधन के धागे को भैया यूँ ही निभाना ।।तू वीर भारतमाता का वीर सपूत है मेरे बीर ।
दुष्ट पिशाचों के सीनों पर गोलियाँ बरसा देना ।।)+)+)+)+)+)+)+)+)+)+)+)+)+)+)+)+)+गीतकार संगीतकार हरिओम जोशी
¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥¥

और जीवन बनवास : गीत संगीत हरिओम जोशी

और जीवन बनवास । गीत संगीत हरिओम जोशी
::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::माँ की ममता
बहना की राखी
का जिस घर में मोल नहीं ।वो घर नहीं इक जंगल है और जीवन बनवास ।।
1.ममता का कोई मोल नहीं है ।
बहना मस्तक चंदन
मानव मूल्यों की क़ीमत का परिचायक है संस्कारों का वंदन ।
माँ की ममता ......

Do not kill daughters. गीतकार संगीतकार :- हरिओम जोशी ।

गीतकार संगीतकार हरिओम जोशी ।
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::                कुप्रथा की बलिवेदी पर                 कुर्बान न करना बेटियाँ ।

बेटो की इच्छा रखने में मार न डालो बेटियाँ ।।                1.  बहन रहेगी तो भाई के                      हाथ सजेगी राखियाँ ।        कन्या का पूजन कर पाना        लक्ष्मी शारदा देवियाँ ।।                     बेटी ही खुशहाली लाती                      घर गूँजे किलकारियाँ ज़जीरों से जकडी हुई ना रखना बेटियाँ ।                      2.*बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ                            बेटी कुल की शान है । तेरे कुल में पल बढ़ पढ़ कर देगी तेरी पहचान है  ।                   मात पिता के संस्कारों का                    मान बढ़ाती बेटियाँ । बेटों की इच्छा रखने में मार न डालो बेटियाँ  ।। :::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: गीतकार संगीतकार :-  हरिओम जोशी :::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::